सस्ती और सुलभ सब्जी है मूली

सस्ती और सुलभ सब्जी है मूली

मूली का सेवन कच्चा व सलाद के रूप में किया जाता है। कुछ लोग मूली के पत्तों को फेंकने की बजाए उसे खाना पसंद करते हैं क्योंकि मूली के पत्तों में भी खनिज लवण होते हैं। सर्दी के मौसम में गाजर के साथ-साथ मूली भी अपनी औषधीय महत्ता साबित करती है। इन दिनों मूली बाजार में सस्ते दाम पर उपलब्ध रहती है, इसलिए इसका नियमित सेवन किया जा सकता है।
  1. खांसी, दमा व पथरी के रोगियों के लिए मूली रामबाण औषधि है।
  2. बवासीर के रोगियों के लिए खाना हितकर है। उच्च रक्तचाप से पीडि़त रहने वाले व्यक्ति भी मूली का नियमित सेवन करके स्वास्थ्य लाभ उठा सकते हैं। घरेलू औषधि के रूप में मूली का निम्नलिखित ढंग से लाभ उठाया जा सकता हैं।
  3. प्रातः उठते ही एक कच्ची मूली का नियमित सेवन करने से पीलिया रोग ठीक हो जाता है।
  4. मूली के रस में नमक व मिर्च डालकर पीने से पेट का दर्द दूर होता है।
  5. मूली के रस में मिश्री मिलाकर पीने सेे खट्टी डकारें नहीं आतीं।
  6. मूली का रस आंतों की सूजन दूर करता है।
  7. मूली के रस में तिल का तेल मिलाकर थोड़ा गर्म करें और उसके बाद कान में डालें। यह नुस्खा कान का दर्द दूर करता है।
  8. मूली व गन्ने का रस समान मात्र में मिलाकर पीने से काली खांसी दूर होती है।


Share it
Top
To Top