Read latest updates about "Mouth blisters/मुंह के छाले" - Page 1

  • किशमिश का पोषण का महत्व

    किशमिश का पोषण का महत्व

    बच्चों के नाश्ते में किशमिश को शामिल करें। उन्हें रात को भिगोकर सुबह भी खाने को दे सकते हैं। किशमिश पौष्टिक, रोगनाशक भोजन है यह दिमाग के लिए भी फायदेमंद होती हैं ।दिमागी तरावट के लिए -हरी किशमिश के 40 दाने धोकर सौ ग्राम अर्क गुलाब में रात भर भिगोये...

    2019-05-07 08:38:37.0
  • सौंफ के फायदे तथा बेहतरीन औषधीय गुण

    सौंफ के फायदे तथा बेहतरीन औषधीय गुण

    खाने के बाद माउथ फ्रेशनर के तौर पर खाया जाने वाला सौंफ सेहत की दृष्टि से बहुत ही लाभदायक है | सौंफ के अनेक लाभ तथा कई कामयाब घरेलू नुस्खे है | सौंफ की तासीर ठंडी होती है जो लोग सौंफ की चाय पीते हैं, उनका स्वास्थ्य अच्छा रहता है | यह कैल्शियम, आयरन,...

    2019-03-13 09:04:50.0
  • आयुर्वेद में नीम के प्रयोग

    आयुर्वेद में नीम के प्रयोग

    नीम से सभी परिचित हैं। भारत भर में यह वृक्ष सहज सुलभ है। आयुर्वेद में नीम के प्रयोग प्रचुर मात्र में मिलते हैं। इसका स्वभाव शीत वीर्य, लघुग्राही, पाक में कटु रसयुक्त, जठराग्नि को मंद करने वाली, वात तृषा, खांसी, ज्वर, अरुचि, कृमि, वृण, पित्त, कफ,...

    2019-02-28 07:14:28.0
  • फिटकरी के हैरान कर देने वाले फायदे

    फिटकरी के हैरान कर देने वाले फायदे

    फिटकरी बहते हुए खून को रोकने के काम आती है। अधिकांश लोग इसे ही फिटकरी का सबसे बड़ा फायदा मानते हैं। फिटकरी के फायदे यहीं तक सीमित नहीं हैं। फिटकरी केवल बहते हुए खून को रोकने के काम ही नहीं आती बल्कि इसके और भी कई हैरान कर देने वाले फायदे हैं। फिटकरी...

    2019-02-12 13:22:11.0
  • बड़े काम का पुदीना

    बड़े काम का पुदीना

    - सलाद में इसका उपयोग स्वास्थ्यवर्धक है। अगर इसकी पत्तियों को रोज चबाया जाए तो दांत रोग, पायरिया, मसूढ़ों से रक्त निकलता आदि रोग दूर हो जाते हैं।- एक गिलास पानी में पुदीने की 4-5 पत्तियां उबालें! ठंडा होने पर फ्रिज में रख दें। इस पानी से कुल्ला करने...

    2019-01-30 06:56:28.0
  • अजवाइन रोज खाओ, बीमारी से छुटकारा पाओ

    अजवाइन रोज खाओ, बीमारी से छुटकारा पाओ

    आमतौर पर अजवाइन का इस्‍तेमाल नमकीन पूरी, मठ्ठी, नमक पारे और पराठों का स्‍वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है। लेकिन अजवाइन के छोटे-छोटे बीजों में ऐसे गुणकारी तत्‍व मौजूद हैं, जिनसे आप अब तक अंजान हैं। इनडाइजेशन या अपच होने पर अकसर मां हमें गरम पानी और...

    2019-01-21 12:23:51.0
  • जानिए बड़ी इलायची से होने वाले बड़े फायदे

    जानिए बड़ी इलायची से होने वाले बड़े फायदे

    वास्तव में यह एक सुगंधित मसाला है, जो कि दो तरह की होती है- बडी इलायची और हरी इलायची। इन दोनों के बडी इलायची सबसे ज्यादा लोकप्रिय है। अपने विशिष्ट स्वाद और जबर्दस्त सुगंध के कारण इसका इस्तेमाल खाना बनाने में किया जाता है। बड़ी इलायची को काली इलायची,...

    2019-01-17 10:54:05.0
  • नीम से कई उपचार

    नीम से कई उपचार

    कहते हैं सदियों पूर्व भारत में ट्टषि-मुनि जिस नीम की महत्ता बताते रहे हैं, उसे पश्चिम के वैज्ञानिक आज स्वीकार कर रहे हैं। आधुनिक शोधों और अनुसंधानों से सिद्ध कर दिया है कि नीम में कई औषधीय गुण हैं।यह सर्वविदित तथ्य है कि प्रकृति की लीला बड़ी...

    2018-12-17 09:19:47.0
  • मुलेठी है हर रोग की दवा

    मुलेठी है हर रोग की दवा

    मुलहठी एक प्रसिद्ध और सर्वसुलभ जड़ी है। असली मुलेठी अंदर से पीली, रेशेदार एवं हल्की गंधवाली होती है। यह सूखने पर अम्ल जैसे स्वाद की हो जाती है। यह स्वाद में शक्कर से भी मीठी होती है। मुलेठी बड़ी ही गुणकारी औषधि के रूप में उपयोग की जाती है। मुलेठी...

    2018-12-11 08:52:26.0
  • दही के लाभदायक गुण

    दही के लाभदायक गुण

    - रक्त की कमी, दुर्बलता से पीड़ित व्यक्तियों के लिए दही अमृत है।- भयानक बुखार में दही से दूर न भागें। दही बुखार के विष को तुरंत बाहर निकालता है। हां, इसके लिए पर्याप्त मार्गदर्शन अवश्य लें। - जिसके पेट में कीड़े हों, मोटापा हो, भोजन में स्वाद न आता...

    2018-11-15 09:27:03.0
  • मक्खन से होने वाले आयुर्वेदिक इलाज

    मक्खन से होने वाले आयुर्वेदिक इलाज

    मक्खन के सेवन से वीर्य की अधिक वृद्धि होती है एवं पित्त और वायु के दोष दूर होते हैं। इसके सेवन से पाचनशक्ति बढ़ती है। मक्खन पचने में हल्का है और यह तुरन्त खून (रक्त) बनाता है, मक्खन बवासीर तथा खांसी के रोगों में लाभकारी है। गाय के दूध का मक्खन सबसे...

    2018-10-10 10:25:29.0
  • अंजीर बनाता है पाचनतंत्र को मजबूत

    अंजीर बनाता है पाचनतंत्र को मजबूत

    अंजीर पहाड़ों पर खूब पैदा होता है। उष्ण प्रदेशों में भी यह कहीं पाया जाता है। इसमें वर्ष में दो बार फल आते है जून-जुलाई तथा इसके बाद जनवरी मास में। अंजीर के पके हुए फल को शीतल, मधुर, तृष्तिदायक, क्षय, वात, पित्त एवं कफ को नष्ट करने वाला माना जाता...

    2018-10-09 06:09:03.0
Share it
Top
To Top